Tuesday, September 13, 2011

कर्म से शरीर बनता है, फिर शरीर से कर्म होता है,फिर कर्म से शरीर बनता है।
-----श्री महाराजजी.