Friday, September 16, 2011


शास्त्रों, वेदों, और महापुरुषों की वाणी के विरुद्ध जब कभी बुद्धि का फैसला हो तो यह सोचते रहना चाहिए की शास्त्र और महापुरुष गलत नहीं हो सकते ,हम ही गलत हैं।
-------श्री महाराजजी .