Sunday, September 18, 2011

प्रश्न : जो संत या भगवान की निंदा करे ,उसके साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए?
उत्तर : श्रीमहाराजजी द्वारा:- जिससे तुम्हारा 24 घंटे का साथ है,उसकी बात सुनकर तो हँस कर उसकी बात सुनलों ,वह खिसिया कर चुप हो जायेगा। जिससे कभी-कभी का संबंध है,उसको झिड़क दो ,उससे संबंध खत्म कर दो, हर जगह अलग-अलग व्यवहार करना पड़ेगा ।