Thursday, August 25, 2011

 विश्व में चेतन अथवा अचेतन सभी प्राणियों में श्री कृष्ण को देखना ही सिद्धि है.