Sunday, September 1, 2013

"संसारी वस्तु का त्याग वास्तविक त्याग नहीं है, वरन मन की आसक्ति का त्याग ही त्याग है।
-------श्री महाराजजी।"