Sunday, September 1, 2013

एक साधक का प्रशन - मन से भक्ति कैसे की जाये ?

श्री महाराज जी द्वारा उतर - पहले सिद्धान्त समझिये। भक्ति दो प्रकार की होती है ----
१. वैधी और
२. रागानुगा

बुद्धि - प्रधान लोगों के लिए वैधी भक्ति। वे शास्त्र - वेदों में वर्णित वर्णाश्रम धर्म का पालन भी करें और भगवान् की भक्ति भी करें। मन -प्रधान लोग भावुक होते हैं वे केवल भगवान् की भक्ति करते हैं।


.......जगद्गुरु श्री कृपालु जी महाराज।