Sunday, September 1, 2013

सारा संसार मायाजनित अज्ञान के द्वारा अन्धा हो रहा है परन्तु अपने को कोई भी अज्ञानी नहीं समझता सभी ज्ञानी समझते हैं।

-------जगद्गुरु श्री कृपालु जी महाराज।