Friday, September 6, 2013

मन में तो बसी बस चाह यहि पिय नाम तुम्हारा उचारा करूँ !
बिठला के तुम्हें मन मंदिर में मन मोहिनि रूप निहारा करू !!