Wednesday, September 11, 2013

जब निष्काम भाव से जीव हरि - गुरु की भक्ति करता है तब दयालु गुरु उस जीव को श्यामा श्याम का दिव्य प्रेम दान करते हैं.

--------जगद्गुरु श्री कृपालु जी महाराज.