Friday, August 8, 2014

मिट जाए गुनाहों का तसव्वुर ही इस दिल से ..........!
अगर हो यकीन कि , वो देख रहा है हमें हर पल हर घड़ी ............!!
राधे-राधे।