Sunday, August 3, 2014

कृपा को पाने के लिए साधना करनी होती है, कीर्तन करो, आँसू बहाओ, रूपध्यान करो,षमा याचना करो अपने पापों की, इससे मन शुद्ध होगा।
..........श्री महाराज जी।