Friday, May 23, 2014

जिन्दगी उसी की महान है, जो हरि-गुरु के सुख में,उनकी सेवा में ही बीतती रहे।
....श्री महाराज जी।