Thursday, May 1, 2014

साधक : महाराज जी, आप हमें पहले क्यों नहीं मिलें?
श्री महाराज जी : अभी मिल गए हैं यह क्या कम है? अरबों को तो हम मिलें ही नहीं। मरने से पहले मिल गए हैं यह भगवान् की बहुत बड़ी कृपा है ।
साधक : तो महाराज जी, इस बार जब हम मर जायेंगे तो हमें आप फिर से मिलेंगे?
श्री महाराज जी : और कहाँ जाएगी! जिसका जिससे प्यार होता है वहीं तो जाता है।