Sunday, May 11, 2014

जो भी आये जाये वह गोविंद राधे।
मायाधीन मायातीत सब ही बता दे।।

-----श्री महाराज जी।