Wednesday, March 20, 2013

मक्खन को जब ताप दिया जाता है तब वह पिघलने लगता है। परन्तु भक्त का हृदय दूसरों के दुःख से ही पिघलने लगता है।
*********जगद्गुरु श्री कृपालु जी महाराज*********
मक्खन को जब ताप दिया जाता है तब वह पिघलने लगता है। परन्तु भक्त का हृदय दूसरों के दुःख से ही पिघलने लगता है।
*********जगद्गुरु श्री कृपालु जी महाराज*********