Sunday, March 24, 2013

गुरु को अपना इष्टदेव , अपनी आत्मा मानो। अर्थात आत्मा से भी आराध्य है गुरु ऐसा मानकर जो उपासना करेगा , उसी को भगवत्प्राप्ति हो सकती है।

...........जगद्गुरुत्तम श्री कृपालु महाप्रभु।
गुरु को अपना इष्टदेव , अपनी आत्मा मानो। अर्थात आत्मा से भी आराध्य है गुरु ऐसा मानकर जो उपासना करेगा , उसी को भगवत्प्राप्ति हो सकती है।
 
...........जगद्गुरुत्तम श्री कृपालु महाप्रभु।