Monday, March 25, 2013

भगवान् के भक्तों की भक्ति से भगवान् जितने शीघ्रता से संतुष्ट होते हैं , अपनी भक्ति से नहीं।

..........श्री महाराजजी।
भगवान् के भक्तों की भक्ति से भगवान् जितने शीघ्रता से संतुष्ट होते हैं , अपनी भक्ति से नहीं।
 
..........श्री महाराजजी।