Monday, March 4, 2013

संसारी लोग उसी से प्यार करते हैं , जिसके पास संसारी वैभव होता है। किन्तु श्यामसुन्दर अकिंचन से प्यार करते हैं।
~~~~~~~जगद्गुरु श्री कृपालु जी महाराज~~~~~~~