Saturday, April 12, 2014

श्री गुरु चरण शरण गहुँ , भजु श्री युगल किशोर !
तब ' कृपालु ' हरि कृपा ते , मिलई प्रेम चितचोर !!