Tuesday, April 1, 2014

भगवदप्राप्ति महापुरुष के बताये मार्ग पर चलने से होगी, न की उनकी नकल करने से।
----- श्री महाराज जी।