Wednesday, June 5, 2013

छोटी-छोटी गलती,छोटी-छोटी गुरु आज्ञाओं के प्रति लापरवाही,एक दिन जीव को पतन के द्वार पर खड़ा कर देती है। गुरु आज्ञा उल्लंघन करके सेवा करना भी नामापराध है।
------श्री कृपालुजी महाप्रभु।
छोटी-छोटी गलती,छोटी-छोटी गुरु आज्ञाओं के प्रति लापरवाही,एक दिन जीव को पतन के द्वार पर खड़ा कर देती है। गुरु आज्ञा उल्लंघन करके सेवा करना भी नामापराध है।
------श्री कृपालुजी महाप्रभु।