Saturday, August 24, 2013

गुरु जो कहे,आज्ञा मानने का अर्थ है कि उसमे तुम बुद्धि मत लगाना।क्योंकि अगर तुमने बुद्धि लगाई ,सोचा फिर माना,तो तुम अपनी आज्ञा मान रहे हो,गुरु की आज्ञा नहीं।
..........श्री महाराजजी।