Saturday, August 24, 2013

प्रिया प्रियतम का रूपध्यान करते हुये उनके नाम ,रूप ,लीला , गुण ,धाम आदि का रो रो कर गायन करो ।
..........जगद्गुरुत्तम श्री कृपालु महाप्रभु जी ।