Sunday, August 11, 2013

अगर तुम्हारी बुद्धि यह कहे कि ठीक नहीं है, तब भी आज्ञा तुम गुरु की ही मानना,तभी तो ये बुद्धि टूटेगी और गिरेगी।
.........श्री महाराजजी।