Wednesday, June 18, 2014

दाद को खुजालते समय तो आराम मालूम पड़ता है पर बाद में, उस जगह असह्य जलन होने लगती है. संसार के भोग भी ऐसे ही है - शुरू शुरू में तो वे बड़े ही सुखप्रद मालूम होते है परन्तु बाद में उनका परिणाम अत्यन्त भयंकर एवं दुखमय होता है।
While itching ringworm, we feel great comfort that time but afterwards on that place we will have intolerable irritation. In the same way enjoyment of material matters of this world are like this only- Initially they are very comfy but afterwards their results are very dangerous and Sorrowful.
--------JAGADGURU SHRI KRIPALU JI MAHARAJ.