Monday, January 21, 2013


एक साधक का प्रश्न -- गुरु जीव पर अहैतु की कृपा क्यों करता है ?

श्री महाराजजी द्वारा उत्तर -- गुरु जीव पर अहैतु की कृपा करता है जिससे जीव भगवत्प्राप्ति अर्थात आनंद प्राप्ति कर सके , क्योंकि प्रत्येक जीव आनंद चाहता है और वह उसे संसार में ढूंढ़ रहा है , जहाँ आनंद नहीं है ! अतः गुरु ही अहैतु की कृपा कर उसे सही रास्ता ही नहीं बताता बल्कि उसे उस गन्तव्य स्थान तक पहुँचा भी देता है !