Monday, January 14, 2013




♥ .. radhey ♥ .. radhey ♥ .. radhey ♥ .. radhey ♥

"हम प्रेम नगर की बंजारिन "...........

"हम प्रेम नगर की बंजारिन, जप-ताप और साधन क्या जाने,

हम श्याम के नाम की दीवानी, व्रत नेम के बंधन क्या जाने,

हम ब्रज की भोरी ग्वारनिया हम ज्ञान की उलझन क्या जाने,
 
ये प्रेम की बाते है उद्धो, कोई क्या समझे कोई क्या जाने,

मेरे और मोहन की बाते, या मैं जानू या वो जाने ”।।


♥ .. radhey ♥ .. radhey ♥ .. radhey ♥ .. radhey ♥