Tuesday, March 10, 2015

हमलोग संसार में सुख ढूँढते हैं जगह-जगह और कहीं पर सुख है ही नहीं तो मिलेगा कहाँ से,आनंद को छिपा लिया है भगवान ने इस संसार में रखा ही नहीं है।
........श्री कृपालु महाप्रभु।