Saturday, March 29, 2014

संसार मिलने के पहले ,मिलने पर और मिलने के बाद ,तीनों अवस्थाओं में दुःख ही दु:ख है। ये बात अगर बुद्धि में बैठ जाये तब भगवान की भूख बढ़ेगी।
--------जगद्गुरु श्री कृपालु जी महाप्रभु।