Friday, March 21, 2014

भक्त जैसा चाहे गोविन्द राधे। भगवान् वैसा ही रूप बना दे ।।
राम कृष्ण हरि एक गोविन्द राधे। जामें लगे मन वामें लगा दे।।
.........श्री महाराज जी।