Thursday, April 7, 2016

गुरु हमारे अत्यंत निकट है,दिन-रात हमारे साथ रहते हैं।यह विश्वास दृढ़ करो,ध्यान रहे की उनका वियोग कभी होता ही नहीं है।

--------सुश्री श्रीधरी दीदी (जगद्गुरु श्री कृपालुजी महाराज की प्रचारिका)।