Wednesday, April 3, 2013

हम बिच्छू की तरह डंक मारते जाते हैं लेकिन सन्त फिर भी कृपा करते जाते हैं। जब सन्त यह संसार छोड़कर चले जाते हैं , तब हम उनकी पूजा करते हैं लेकिन अपने जीवन काल में बेचारे सदैव अत्याचार और अन्याय के जाल में फंस जाते हैं।
------जगद्गुरु श्री कृपालु जी महाराज।