Wednesday, April 17, 2013

Preparatory devotion leads to perfect devotion through divine grace.
प्रथम साधना-भक्ति साधक को करनी होगी, जब वह भक्ति अन्तःकरण शुद्ध कर देगी, तभी फलरूपा दिव्य-भक्ति प्राप्त होगी।
--jagadguru shri kripalu ji maharaj.
Preparatory devotion leads to perfect devotion through divine grace.
प्रथम साधना-भक्ति साधक को करनी होगी, जब वह भक्ति अन्तःकरण शुद्ध कर देगी, तभी फलरूपा दिव्य-भक्ति प्राप्त होगी।
--jagadguru shri kripalu ji maharaj.