Saturday, April 27, 2013

स्वभाव ही है अकारण कृपा करने का | तुम विश्वास कर लो, बस, काम बन जाय
तुम अपने आपको सदा के लिए उनके हाथों बेच दो, वे सब ठीक कर देंगे |
देखो उन्होंने महान से महान पापियों को भी हृदय से लगाया है,फिर तुम्हे क्यों अविश्वास या संकोच है| एक बार ऐसा करके तो देखो |

............तुम्हारा कृपालु।
स्वभाव ही है अकारण कृपा करने का | तुम विश्वास कर लो, बस, काम बन जाय
तुम अपने आपको सदा के लिए उनके हाथों बेच दो, वे सब ठीक कर देंगे |
देखो उन्होंने महान से महान पापियों को भी हृदय से लगाया है,फिर तुम्हे क्यों अविश्वास या संकोच है| एक बार ऐसा करके तो देखो |
 
............तुम्हारा कृपालु।