Monday, April 15, 2013

जिस किसी प्रकार से भी मन भगवान् में आसक्त हो वही साधना है।

...........श्री महाराज जी।
जिस किसी प्रकार से भी मन भगवान् में आसक्त हो वही साधना है।

 ...........श्री महाराज जी।