Saturday, April 27, 2013

कृपालु के साथ दो चाल नहीं चलेंगी कि मुझको भी हृदय में रखो और गलतियाँ भी करते जाओ। मुझे अपने ह्रदय से निकल दो तब गलतियाँ करो।
----श्री महाराज जी।
कृपालु के साथ दो चाल नहीं चलेंगी कि मुझको भी हृदय में रखो और गलतियाँ भी करते जाओ। मुझे अपने ह्रदय से निकल दो तब गलतियाँ करो।
----श्री महाराज जी।