Saturday, November 19, 2016

गुरु हमारे अत्यन्त निकट हैं, दिन - रात हमारे साथ रहते हैं। उनका विछोह अथवा वियोग कभी होता ही नहीं।
----श्री महाराज जी।