Tuesday, November 29, 2016

मानवदेह का सर्वाधिक महत्व सोचकर एक-एक क्षण मूल्यवान मानो, एवं अनावश्यक समय का अपव्यय ना करो।
........जगद्गुरु श्री कृपालुजी महाराज।