Tuesday, January 5, 2016

अनंत बार हमने सुना है संतो का लैक्चर और उस समय सिर को भी हिलाया...."आप बिलकुल ठीक कहते हैं गुरु जी" लेकिन फिर संसार में आसक्त हो गये।
......श्री महाराजजी।