Sunday, January 17, 2016

ईश्वरीय क्षेत्र में अपने से ऊँचे को देखो, सांसारिक क्षेत्र में अपने से नीचे वाले को देखो।
.........श्री महाराजजी।