Friday, July 8, 2016

श्रीकृष्ण भक्ति के बिना अन्त:करण शुद्धि होना असंभव है। श्रीकृष्ण नवधाभक्ति ही साधना एवं सिद्धि है।
----- जगद्गुरु श्री कृपालुजी महाराज।