Saturday, May 6, 2017

हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे।
हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे हरे।
अवध बिहारी राजा राम,वृन्दाविपिन बिहारी श्याम।
मर्यादा पुरुषोत्तम राम,ब्रजरस रसिक शिरोमणि श्याम।
ब्रह्म एक ही है द्वै नाम, तेहि कहु राम अथवा कहु श्याम।
धर्म प्रचारक राजा राम,प्रेम प्रचारक हैं घनश्याम।
------ जगद्गुरु श्री कृपालु जी महाराज।