Monday, October 5, 2015

वे हमें अपना बनावें चाहे न बनावें इसकी हमें चिन्ता नहीं, हम उन्हें अपना बनाए रहेंगे बस यही निश्चय रहे ।
------जगद्गुरु श्री कृपालु जी महाप्रभु।