Monday, August 27, 2012

जीवन में जितना ही अधिक सिंपल रहोगे उतने ही शांत रहोगे . सिंपल रहकर अगर तुम आधा घंटा भी साधना करोगे तो भगवान में मन अधिक लगेगा. सदेव यह सोचो की तुम्हारे गुरु तो तुम्हे सिंपल रहते देखने में ही प्रसन्नता होती है.

- JAGADGURU SHREE KRIPALUJI MAHARAJ.