Thursday, October 6, 2016

जहाँ प्यार किया जाता है,वहाँ व्यवहार नहीं देखा जाता।

------श्री महाराजजी।