Tuesday, May 28, 2013

संसार में जितने भी रिश्ते-नातेदार है उनको अपने ही हित का पता नहीं है,वो बेचारे हमारा हित क्या करेंगे?
.......श्री महाराजजी।
संसार में जितने भी रिश्ते-नातेदार है उनको अपने ही हित का पता नहीं है,वो बेचारे हमारा हित क्या करेंगे?
.......श्री महाराजजी।