Thursday, May 30, 2013

मन एक दिन ऐसा आयेगा, मुट्ठी बाँध के आया था , हाथ पसारे जायेगा ||
......श्री महाराजजी।
मन एक दिन ऐसा आयेगा, मुट्ठी  बाँध के आया था , हाथ पसारे जायेगा ||
......श्री महाराजजी।