Saturday, June 6, 2015

ये मन बहुत चंचल है लेकिन अभ्यास और वैराग्य से मन पर कंट्रोल अनन्त जीवों ने किया है कर रहे हैं करेंगे।
-----जगद्गुरु श्री कृपालुजी महाराज।