Thursday, February 4, 2016

श्री महाराजजी से प्रश्न: हमें अपने चिंतन के प्रति सावधान क्यों रहना चाहिए?
श्री महाराजजी द्वारा उत्तर : क्योंकि हमारे उत्थान और पतन का कारण हमारा चिंतन है। भगवदविषयों के विपरीत चिंतन से हमारी बुद्धि मोहित हो जाती है।