Sunday, September 16, 2012




हमरी ओर टुक हेरो री किशोरी राधे !
...
नाम 'कृपालु' काम तुम जानति,
भलो बुरो जस तेरो री किशोरी राधे। !

-जगद्गुरु श्री कृपालुजी महाराज.